बालू ट्रकों से लग रहे जाम से ग्रामीणों व सपाइयों ने किया धरना प्रदर्शन

Share this post

एसडीएम के आश्वासन पर एक सप्ताह के लिए धरना को किया स्थगित

चोपन( सोनभद्र)। जिले में खनन एक बड़ा मुद्दा रहा है प्रदेश में सरकार किसी भी दल की हो लेकिन उसकी राजनीति को यहाँ का खनन जरूर प्रभावित करता है। इस बार भीबविधानसभा चुनाव में गिट्टी बालू सस्ता होगा का मुद्दा छाया रहा फर्क सिर्फ इतना था कि 2017 के चुनाव में यह नारा भाजापा लगा रही थी इस बार 2022 में सपा के लोग लगा रहे थे। आज ओबरा तहसील क्षेत्र के रेणु व सोन नदी में चल रही बालू खदानो से निकलने वाली ट्रको की लंबी कतार और उससे लगने वाले जाम से अजीज आकर स्थानीय लोगो ने समाजवादी पार्टी नेताओ के साथ धरना प्रदर्शन कर अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराने का प्रयास किया। इसके साथ ही सिंदुरिया से चतरवार मार्ग पर बालू लदी ट्रकों से लगने वाले जाम के कारण यूपी बोर्ड के परीक्षार्थी समय से अपने परीक्षा केन्द्र पर नही पहुच पा रहे है। धरना प्रदर्शन के दौरान स्थानीय लोगो ने मांग किया कि रेणु व सोन नदी में बड़ी बड़ी मशीनों से बालू खनन किया जा रहा है। जिससे सिंदुरिया – चतरवार मार्ग पर जाम लगता है। बालू लदी ट्रकों से आये दिन दुर्घटना भी होती है। हम सभी की मांग है कि एनजीटी के नियम के तहत बालू का खनन किया जाय और स्थानीय लोगो को रोजगार भी मिले।

सोनभद्र में ओबरा तहसील क्षेत्र के महलपुर व भगवा में स्थित रेणु नदी और चौरा , अगोरी व बिजौरा में स्थित सोन नदी से ई टेंडरिंग के माध्यम से संचालित बालू का खनन किया जा रहा है। इन बालू की खदानों से एनजीटी के मानकों का कही से भी पालन नही किया जा रहा है। यहाँ संचालित खदानो पर बालू लोडिंग में नियमों के साथ खिलवाड़ को लेकर समाजवादी कार्यकर्ताओं व स्थानीय लोगो ने धरना प्रदर्शन किया। जनपद सोनभद्र के महलपुर भगवा , चौरा व अगोरी के क्षेत्र में नियमों के विपरीत स्वीकृत क्षेत्र से बाहर बड़े पैमाने पर अवैध खनन का कार्य किया जा रहा है जहां मानक के विपरीत लोडिंग करना बिना mm11 परिवहन करना जिससे राजस्व की भारी क्षति हो रही है साथ ही साथ एनजीटी के नियमों के विपरीत भारी मात्रा में नदियों में कचरा डाला जा रहा है। नाव एवं बड़ी मशीनरी द्वारा खनन करने से नदी में भारी मात्रा में गड्ढे बन जाने से पैदल पार होने वाले राहगीरों व मवेशियों के डूबने की आशंका को लेकर आज समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन किया।

समाजवादी पार्टी नेता व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अनिल यादव ने कहा कि खनिज विभाग द्वारा बड़े पैमाने पर बिना एनजीटी की गाड़ियों को छोड़ना जिससे राजस्व की क्षति हो रही।
खनन कार्यकर्ताओं द्वारा मानक के विपरीत ट्रकों का ओवर लोडिंग करना बिना mm11 के गाड़ियों को छोड़ना सभी ट्रक रोड पर खड़ी करती है जिससे सड़क जाम लगने से आम जनता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है तो वही एंबुलेंस भी कई बार जाम में फंस जाता है। नदी में मशीनों से बालू निकालना नियमानुसार गलत। भीगी बालू मोरम को ट्रकों पर लोड करना जिसके कारण रोड का क्षतिग्रस्त हो जा रहा और राजस्व को सीधे पड़ रहा नुकसान।
एनजीटी के नियमों के विपरीत नदियों में धुलाई हेतु सड़क के नाम पर कचरा गाड़ी इत्यादि डालकर स्वीकृत क्षेत्र के बाहर खनन करना। बालू साइड पर कार्यरत कर्मचारियों की आईडी जिला प्रशासन द्वारा सत्यापन किया जाए अक्सर प्राइवेट और सलाह धारी रोड पर दिखाई देते हैं स्थानीय लोगों को डराया धमकाया जाता है इनकी सूची बोर्ड पर प्रदर्शित की जाए ऐसे में कोई अप्रिय घटना घट सकती है उनका सत्यापन कराया जाए अन्यथा की स्थिति में स्थानीय प्रशासन जिम्मेदार होगा।

वही धरना प्रदर्शन कर रहे समाजवादी नेताओ का कहना था कि नदियों में रहने वाले जलीय जीवो को भी भारी नुकसान हो रहा जहां जनपद सोनभद्र के सोन रेणु तथा बिजुल नदी में कई दुर्लभ प्रजाति के कछुए घड़ियाल एवं मछलियां पाई जाती हैं जिन पर खनन के दौरान नियमों के साथ अनियमितताओं के कारण सीधा असर पड़ता दिख रहा है।

इस मौके पर अजय पाठक, सतीश यादव , परमेश्वर यादव , शिव सागर, विनोद कुमार निषाद, धर्मेंद्र यादव, देवनारायण , अरविंद कुमार आदि दर्जनों सपा कार्यकर्ता और स्थानीय ग्रामीण मौजूद रहे।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 1 7 5 6 7
Users Today : 113
Users This Month : 2370
Total Users : 17567
Views Today : 166
Views This Month : 3611
Total views : 32138

Radio Live

Verified by MonsterInsights