पूर्वांचल का विकास तभी जब यूपी का होगा विभाजन: पवन सिंह

Share this post

सोनभद्र। अलग पूर्वांचल राज्य की मांग लेकर लड़ाई लड़ने संगठनों में से एक पूर्वांचल राज्य जनमोर्चा की आज एक बैठक सदर तहसील परिसर में प्रदेश महासचिव एडवोकेट वीरेंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुआ। बैठक में पूर्वांचल राज्य बनाने एवं जनपद सोनभद्र की समस्याओं पर विस्तृत विचार विमर्श किया गया।

संगठन प्रमुख एडवोकेट पवन कुमार सिंह ने कहा कि पूर्वांचल राज्य बनने से प्रशासनिक ढांचा तो मजबूत होगा ही राजनीतिक दृष्टि से भी लोगों को लाभ मिलेगा। यहां सबसे बड़ी चीज जो है कि रोजगार का सृजन होगा, क्योंकि राज्यों के गठन में प्राकृतिक संसाधन सबसे महत्वपूर्ण होते हैं, ऐसे में सभी चीजें राज्य बनाने के लिए उपयुक्त हैं इसलिए पूर्वांचल राज्य बनेगा तो यहां एम्स एवं केंद्रीय विद्यालय की स्थापना भी होगी।

प्रदेश अध्यक्ष विमलेश कुमार त्रिपाठी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की आबादी लगभग 25 करोड़ है, इस लिहाज से उत्तर प्रदेश दुनिया का पांचवा देश है यानी देश भी इससे बड़े केवल चार ही है।यूपी हमेशा राजनीतिक साजिश का शिकार है।इसका कम से कम तीन हिस्सो में विभाजन होना चाहिए और हमें हमारा पूर्वांचल राज्य मिलना चाहिए। इसके लिए पूर्वांचल की गरीबी का कारण और तत्काल निवारण विषयक आयोग गठित किया गया। जिसे पटेल आयोग के रूप में जाना गया, इसलिए पटेल आयोग की रिपोर्ट को लागू किया जाए।

बैठक का संचालन प्रदेश सचिव संतोष चतुर्वेदी ने किया वही इस मौके पर नागेंद्र नाथ चौबे एडवोकेट, काकू सिंह, अशोक कुमार कनौजिया एडवोकेट, दीप नारायण पटेल, विकास पाठक, चंदन, अनूप, रिंकू, राजेश, दिनेश स्वरूप, नवीन कुमार पांडेय, सतनाम सिंह आदि लोग उपस्थित रहे।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 1 6 4 4 2
Users Today : 184
Users This Month : 1245
Total Users : 16442
Views Today : 292
Views This Month : 1891
Total views : 30418

Radio Live

Verified by MonsterInsights