आध्यात्मिक उत्प्रेरणा का स्त्रोत है राधारानी : चन्छलापति दास

Share this post

अमित भार्गव

हर्षाेंउल्लास के साथ मना चंद्रोदय मंदिर में राधाष्टमी महामहोत्सव
फूल बंगला, 56 भोग, विद्युत सज्जा, महाभिषेक, हरिनाम संकीर्तन, बना आकर्षण का केन्द्र

वृन्दावन (मथुरा)। भादों शुक्ल पक्ष अष्टमी को श्रीमती राधारानी का जन्म-महोत्सव सम्पूर्ण ब्रज में आनंद और उल्लास के साथ मनाया जाता है। इसी क्रम में भक्ति वेदांत स्वामी मार्ग स्थित चंद्रोदय मंदिर के भक्तों ने भगवान श्रीकृष्ण की आह्लादिनी शक्ति, ब्रज की अधिष्ठात्री देवी श्रीराधा रानी के प्राकट्योत्सव को राधाष्टमी महामहोत्सव के रूप में बड़े़ ही हर्षोल्लास के साथ मनाया।
इस दौरान भक्तों द्वारा मंदिर प्रांगण को पुष्पों एवं रंगोली द्वारा बडे़ ही मनोहर रूप में सुसज्जित किया गया। राधाष्टमी महामहोत्सव का शुभारंभ मंगला आरती की शंख ध्वनि के साथ हुआ। इसके पश्चात भगवान श्रीश्री राधा वृन्दावन चंद्र की धूप आरती, नवीन पोशाक धारण, फूल बंगला, झूलन उत्सव, छप्पन भोग एवं अखण्ड हरिनाम संकीर्तन का आयोजन किया गया।

कृष्ण भक्तों के लिए राधाष्टमी, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के बाद दूसरा बड़ा त्यौहार है। इस मौके पर चंद्रोदय मंदिर में श्रीराधारानी एवं ठाकुर श्री वृन्दावन चंद्र को गुलाबी एवं हरित वर्ण के रेशम युक्त रजत से कढ़ाई किए हुए वस्त्र धारण कराए गए। वहीं संध्या बेला में ठाकुर श्री राधा वृन्दावन चंद्र का पालकी उत्सव का आयोजन किया गया। इसके उपरांत निमार्णाधीन चंद्रोदय मंदिर के उत्सव हॉल में श्रीमती राधारानी एवं ठाकुर श्री वृन्दावन चंद्र का महाभिषेक वैदिक मंत्रोच्चारण, पंचगव्य (दूध, दही, घी, गोबर एवं गौमूत्र) शहद, बूरा, विभिन्न प्रकार के फलों के रस, विभिन्न जड़ी बूटियों एवं फूलों से महाभिषेक को सम्पन्न कराया गया।

इस पुनीत अवसर पर भक्तों को सम्बोधित करते हुये चंद्रोदय मंदिर के अध्यक्ष श्री चंचलापति दास ने कहा कि श्री राधारानी का एक नाम हरिप्रिया है। वह श्रीकृष्ण की अति प्रिय हैं। यदि आप भगवान् श्रीकृष्ण की भक्ति को प्राप्त करना चाहते हैं, तो यह श्री राधारानी की कृपा से ही संभव है। उन्होंने बताया कि श्रील प्रभुपाद जी कहते हैं कि यदि राधारानी किसी भक्त के विषय में श्रीकृष्ण से यह बोल दें कि वह अच्छा है, तो श्रीकृष्ण उसे बहुत जल्द स्वीकार कर लेते हैं। उन्होंने कहा कि यदि आप गौर से ब्रजवासी भक्तों को सुनेंगे तो वह श्रीकृष्ण से ज्यादा राधारानी का नाम जय राधे का उच्चारण करते हैं। इस प्रकार राधारानी की कृपा से श्रीकृष्ण को समझना आसान हो जाता है।

इस राधाष्टमी के विशेष अवसर पर हरिनाम संकीर्तन में बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं ने बढ़.चढ़ कर हिस्सा लिया एवं भाव विभोर होकर नृत्य करते नजर आये। उत्सव में शामिल होने के लिए पंजाब,, हरियाण, दिल्ली, मध्यप्रदेश, राजस्थान, आगरा एवं फरीदाबाद के भी भक्तगण पहुंचे।

इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार की कैबिनेट मंत्री महिला कल्याण, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग बेबी रानी मौर्य ने भी इस महामहोत्सव में शामिल होकर श्रीराधा वृंदावन चंद्र का शुभाशीष प्राप्त किया।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 1 7 0 9 0
Users Today : 199
Users This Month : 1893
Total Users : 17090
Views Today : 288
Views This Month : 2866
Total views : 31393

Radio Live

Verified by MonsterInsights