ग्राम सभा बढ़ौली में जमीनों के विनिमय का खेला गया बड़ा खेल

Share this post

शिकायतकर्ता ने हल्का लेखपाल पर अधिकारियों को भ्रामक जांच रिपोर्ट देने का लगाया आरोप

सोनभद्र। केंद्र और राज्य में सरकार किसी भी दल की हो , जन समस्याओं का समाधान और योजनाओं का लाभ जनता को तभी मिलेगा जब अधिकारी सही तरीके से क्रियान्वित कराये। इसके लिए प्रदेश सरकार महीने में पहले और तीसरे शनिवार को तहसील समाधान दिवस और दूसरे व चौथे शनिवार को थाना समाधान दिवस का आयोजन कर जन शिकायतो का निस्तारण कर रही है , इन सब के बाद भी जनपद में सरकार जनता के द्वार योजना के तहत जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह ग्राम समाधान दिवस प्रत्येक सोमवार को ग्राम समाधान दिवास का आयोजित करके जन समस्याओं का निस्तारण कर रहे है लेकिन सम्बंधित अधिकारियों द्वारा जांच रिपोर्ट में लीपापोती करने से कुछ समस्याए हल होने की बजाय और जटिल हो जाती है।

जिलाधिकारी को दिए गए प्रार्थना पत्र पर क्षेत्रीय लेखपाल द्वारा स्पष्ट जवाब नही देने का एक मामला संज्ञान में आया है। शिकायत करने वाले सदर विकास खण्ड के बढ़ौली ग्राम पंचायत के ओमप्रकाश चौबे जिलाधिकारी से शिकायत किया कि सन 2005-2015 के दौरान तत्कालीन ग्राम प्रधानों एवं लेखपालों की साजिश से ग्राम सभा के प्रभावशाली व्यक्तियों द्वारा ग्राम समाज की कीमती जमीनों को फर्जी तरिके से विनिमय द्वारा प्राप्त दिखाकर महंगे दामों में बेच दी गयी है तथा बदले में दी गयी कथित आराजी को भी पहले ही बेच दी गयी। फर्जी तरिके से किये गये विनिमय करण और फर्जी कब्जा दर्शाकर ग्राम समाज पर आज भी अतिक्रमण कर काबिज है।

शिकायतकर्ता ने अपने प्रार्थना पत्र के द्वारा अवगत कराया कि अतुल कुमार, ओम कुमार पुत्रगण रमाशंकर चौबे तथा राधा देवी पत्नी स्व० रमाशंकर भी जो आराजी नम्बर-321 का संक्रमणीय भूमिधर थे, अपनी सम्पूर्ण आराजी भिन्न – भिन्न व्यक्तियों को पहले ही बेच दिये थे। उक्त आराजी में उपरोक्त लोगों की कोई भूमि शेष नही बची थी, फिर भी तत्कालीन ग्राम प्रधान और हल्का लेखपाल की साजिश से यह जानते हुये कि आराजी उपरोक्त में कोई भूमि शेष नहीं है, ग्राम सभा की आराजी नम्बर 322 323, 324 401 मि. रकबा चार बिस्वा फर्जी ढंग से प्राप्त कर बेच दिये। वही बदले में दी गयी आराजी नम्बर 321 का कोई भाग ग्राम सभा को नहीं मिला और न तो मौके पर मौजूद ही है, जिसकी जाँच एवं कार्यवाही आवश्यक है।

वही आराजी नम्बर 110 व 112 जो धनुषधारी चौबे उर्फ भिक्खु चौबे पुत्र स्व. इंद्रजीत चौबे निवासी ग्राम बढ़ौली परगना- बड़हर थाना रावर्ट्सगंज के नाम सीएच 18 जमीन थी जिसमें रामखेलावन व बुद्धिराम पुत्रगण गंगा व स्व. रामदास पुत्र स्व. भगावन जो उनके हरवाह थे। जिसमें रामखेलावन आदि लगभग तीन पुस्तों से घर-मकान बनाकर रहते चले आ रहे हैं, मौके पर कोई भी जमीन खाली न होते हुये भी हल्का लेखपाल और ग्राम प्रधान को साजिश में लेकर फर्जी तरिके से विनिमय हेतु फर्जी रिपोर्ट तथा ग्राम प्रधान की जमीन खाली होने एवं विनियम हेतु उपयुक्त होने का झूठा बयान न्यायालय उपजिलाधिकारी सदर के समक्ष कराकर फर्जी ढंग से ग्राम सभा की आराजी 67 मि. आदि नम्बरों की महंगी जमीनों की फर्जी ढंग से प्राप्त करके बेच दी गयी तथा अपनी उपरोक्त आराजी नम्बर-110, 112 को विनिमय के बाद रामखेलावन के लड़के दीनानाथ और दूधनाथ से प्रार्थना-पत्र 123(2) के अन्तर्गत इस आशय का दिलवाकर की आराजी उपरोक्त में 30-35 सालों से – परिवार सहित आबाद है आबादी दर्ज की जाय। जिस पर लेखपाल आदि की गलत आख्या के बाद आबादी दर्ज हो गयी। इस प्रकार विनियम की कार्यवाही व आबादी हेतु प्रस्तुत प्रार्थना-पत्र पर ग्राम प्रधान की गलत संस्तुति की जाँच कर सम्बन्धित तत्कालीन हल्का लेखपाल व ग्राम प्रधान तथा कास्तकार धनुषधारी के विरुद्ध उचित कानूनी कार्यवाही कराया जाना आवश्यक है।

शिकायत पत्र

इसके साथ ही ग्राम बढ़ौली में शिव तालाब के पास कागजात माल में दर्ज स्कूल तथा ग्राम समाज की जमीन को तत्कालीन ग्राम प्रधान कृष्ण कुमारी तथा लेखपाल लालच में आकर तथा फर्जी तरीके से बच – बेची कराकर विनोद चौबे द्वारा स्कूल भवन को रिहायशी बना दिया गया है।

इतना ही नही ग्राम सभा के पंचायत भवन के पास राजालखन बाबा के पास ग्राम समाज की जमीन पर तत्कालीन हल्का लेखपाल फर्जी एवं अवैधानिक ढंग से 143 की कार्यवाही कराकर पप्पू सिंह का मकान बना दिया गया, जबकि पप्पू सिंह का मकान इन्द्रपुरी कालोनी में था जिसे बेच दिया गया है, जिसकी जाँच कार्यवाही कराया जाना आवश्यक है।

ग्राम पंचायत में ग्राम प्रधान कृष्ण कुमारी के कार्यकाल में ही हरिजन बस्ती में अपनी आराजी सीएस 18 करा दी गयी थी तथा जिसमें गाँव के गरीब का पुस्तो से मकान बना है। ग्राम सभा मे कोई जमीन खाली न होने के बावजूद अपने पद का लाभ लेते हुए लेखपाल को प्रभाव में लेकर सभी विनिमय की कार्यवाही कराकर बदले में ग्राम समाज की कीमती जमीन आराजी 401, 402 को फिर से प्राप्त करके काफी महंगे दामों में डॉ गुलाबचन्द यादव को बेच कर मकान बना लिया गया है. जिसकी जाँच कर उचित कार्यवाही कराया जाना आवश्यक है।

जांच रिपोर्ट

ग्राम बढ़ौली में ही कृष्ण बिहारी चौबे, अशोक चौबे व शशिभूषण चौबे पुत्र स्व रामदुलारे द्वारा ग्राम समाज की जमीन में बढ़कर प्रार्थी की आराजी से सटकर जबरदस्ती एवं अवैध रूप से मकान का निर्माण कराया जा रहा है। जिसकी शिकायत उप जिलाधिकारी सदर से की गयी तो लेखपाल को कर कार्यवाही करने हेतु आदेशित किया गया, किन्तु उपरोक्त लोगों के प्रभाव में आकर हल्का लेखपाल मौके पर नहीं गये और न तो कोई कार्यवाही किये तो प्रार्थी थाना समाधान दिवस में प्रार्थना पत्र दिया, किन्तु आजतक लेखपाल मौके पर नहीं गये, जिसकी वजह से ग्राम सभा की भूमि पर अतिक्रमण कर निर्माण कार्य जारी है, जिसके जिम्मेदार हल्का लेखपाल है, जिसकी जाँच कराकर उचित कार्यवाही किया जाना आवश्यक है।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 1 6 3 4 7
Users Today : 89
Users This Month : 1150
Total Users : 16347
Views Today : 135
Views This Month : 1734
Total views : 30261

Radio Live

Verified by MonsterInsights